Uncategorized

दलित छात्रावास और विद्यार्थियों पर एक विशेष रिपोर्ट।

नरसिंहपुर।

नमस्कार दोस्तों मैं विक्रम कुमार दलित छात्रावास और विद्यार्थियों पर एक विशेष रिपोर्ट आपके सामने रखने जा रहा हूं।

आरक्षण समाप्त हो या जारी रहे यह मुद्दा यहां मायने नहीं रखता जबकि स्थिति कुछ और ही हो।बड़ी बड़ी सभाओं में दलित वर्ग के लिए आकर्षक योजनाएं लागू कर दी जाती है परन्तु उनकी जमीनी हकीकत क्या है यह देखने का समय ना तो प्रशासन के पास है और ना ही योजनाओं को लागू करने वालों के पास।

Newslive88 की टीम ने जब जिले में दलित छात्रावासों का  दौरा किया और विद्यार्थियों से मुलाकात की तब जो हक़ीक़त सामने आयी वह बहुत ही भयानक थी।

जहां पर छात्रावास संचालित किए जा रहे हैं वे भवन जर्जर हो गए हैं,अनेक स्थानों पर बिल्डिंग में दरारें आ गई है,बाथरूम के दरवाजे नाम मात्र के लिए लगे हुए हैं,कुछ स्थानों पर गन्दगी के बीच रहकर भोजन करने जैसी भी स्थितियां हैं।रसोइए होने के बावजूद छात्रों को पढ़ाई छोड़कर पेट की आग शांत करने के लिए कच्ची पक्की रोटियां बनाकर पहले भोजन तैयार करना होता है उस पर भी छात्रावास अधीक्षक के उच्च कुल के होने पर जातिगत भेदभाव को भोगना पड़ता है विद्यार्थियों की मजबूरी होती शिकायत ना कर पाने की क्यों की अधिकारियों से मिलीभगत के चलते अनेक बार शिकायतें भी बेअसर साबित होती है। भृत्य, रसोइए, माली छात्रावास से ज्यादा अधिकारियों को अपनी व्यक्तिगत सेवाएं प्रदान करना पसंद करते हैं क्यों कि आकाओं का खुश रहना ज्यादा जरूरी है।

आइए अब बात करते हैं विद्यार्थियों की , अम्बेडकर साहब को अपना आदर्श मानकर चलने वाले छात्र जातिगत भेदभाव का भी चाहे अनचाहे शिकार होते रहते हैं जिन सुविधाओं के प्रदान किए जाने को लेकर आरक्षण के मुद्दे को उठाया जाता रहा है वे सभी सुविधाए लगभग सभी जगहों से नदारद मिलती है।शायद जहां आप सांस लेना भी पसंद  करे ऐसे स्थानों पर विद्यार्थियों को अध्ययन करना पड़ रहा है,यह है हक़ीक़त योजनाओं के क्रियान्वयन की।

सभाओं में दलित वर्ग के लिए योजनाओं को लागू तो जोर शोर से किया जाता है किन्तु दोबारा पलटकर कभी सुध नहीं ली जाती है।चंद गिने चुने दो चार छत्रवाओं को जो भारत के विकास के नक्शे पर दिखाए जाते हैं अगर उन्हें छोड़ दिया जाए तो वास्तविकता में  स्थिति अति गंभीर है,जरूरत है झूठे आंकड़ों से बाहर निकल कर जमीनी स्तर पर प्रयास करने की।

Vikram
हां हम बहते हैं धारा के विपरित,लड़ते हैं भ्रष्टाचार की लहरों से। हम उठाते हैं आवाज आपके आस पास हो रहे अन्याय के खिलाफ। WhatsApp no - +919977769843 Any suggestions or comments.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *