Uncategorized

जिला चिकित्सालय नरसिंहपुर में भर्राशाही।

जिला  चिकित्सालय नरसिंहपुर।

नरसिंहपुर।

जिले में शासकीय व गैर शासकीय चिकित्सकों के द्वारा उपचार के नाम पर मरीजों की जान से  खिलवाड़ किए जाने से एक नई समस्या उत्पन्न हो गई है। इसमें जहां चिकित्सकों के गलत उपचार के चलते मरीजों को हलाकान व परेशान होना पड़ता है, वहीं हजारों रुपए फीस व दवाइयों में खर्च करने के बाद भी मरीजों को बेहतर उपचार नहीं मिल पाता है। यहां तक कि कुछ प्रकरणों में तो चिकित्सकों के गलत उपचार से मासूम व वयस्क मरीजों को शारीरिक समस्याएं भी आने लगती है। इसमें विकलांग होने का खतरा बढ़ जाता है, इसके बाद भी चिकित्सक लापरवाह हैं। वे मनमानी कर इलाज कर रहे हैं और विभिन्न परीक्षणों के नाम पर कमीशन के जरिए एक मोटी रकम कमा रहे हैं। जबकि यही चिकित्सक साढ़े पांच वर्षों तक मेडिकल शिक्षा प्राप्त करने के पश्चात् उपाधि लेते समय शपथ लेते हैं कि वे सच्चे मन से मरीजों  की सेवा करेंगे, जो अब बेमतलब की साबित हो रही है। जबकि एक जानकारी के मुताबिक मरीज के परिजनों द्वारा गलत उपचार करते हुए पकड़े जाने पर चिकित्सक पहले तो मुकर जाते हैं, बाद में मेडिकल संघ से परामर्श कर बात को टाल दिया जाता है। हालात यह है कि इन लापरवाह चिकित्सकों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। वहीं कुछ मामलों में तो लापरवाही पूर्ण इलाज के बाद जान जाने के बाद भी फीस की राशि मृतकों के परिजनों से वसूली की जाती है। आखिरकार चिकित्सा सेवा के जरिए भगवान कहलाने वाले चिकित्सक क्यों मनमानी करते हैं, इस पर विचार करना आवश्यक है। अन्यथा चिकित्सक और चोरी, लूट व डकैती करने वाले अपराधियों में कोई अंतर नहीं रह जाता है। वहीं निजी चिकित्सों की बाढ़  ने सेवा को व्यावसाय बना दिया, इसलिए भी हालात बदल गए हैं।

Vikram
हां हम बहते हैं धारा के विपरित,लड़ते हैं भ्रष्टाचार की लहरों से। हम उठाते हैं आवाज आपके आस पास हो रहे अन्याय के खिलाफ। WhatsApp no - +919977769843 Any suggestions or comments.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *