Uncategorized

आवासीय कॉलोनी एवं प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन अनिवार्य।

आवासीय कॉलोनी एवं प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन अनिवार्य
रेरा में पंजीयन नहीं करने वाली कॉलोनी व प्रोजेक्ट अवैध प्रोजेक्ट की श्रेणी में
नरसिंहपुर, 28 दिसम्बर 2017. रियल स्टेट सेक्टर के असंतुलन को दूर कर इसे व्यवस्थित करने तथा उपभोक्ताओं के हितों की दृष्टि से इसे और पारदर्शी तथा जिम्मेदार बनाने के लिए एक मई 2016 से मध्यप्रदेश सहित देश में रियल एस्टेट रेग्युलेटरी अथॉरिटी- रेरा एक्ट प्रभावी हो चुका है। इसके अनुसार सभी प्रचलित और नयी आवासीय कॉलोनी एवं प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन कराना बिल्डर्स को अनिवार्य हो गया है। रेरा में पंजीयन नहीं करने वाले कॉलोनी एवं प्रोजेक्ट अवैध प्रोजेक्ट की श्रेणी में आयेंगे। नरसिंहपुर जिले में रेरा के अंतर्गत 9 प्रोजेक्ट अनुमोदित हो चुके हैं और 15 प्रोजेक्ट में अनुमोदन की प्रक्रिया जारी है।
नरसिंहपुर जिले में जिन 9 प्रोजेक्ट के रेरा में पंजीयन को अनुमोदित किया गया है, उनमें भगवती बिल्डर्स एण्ड डेव्हलपर्स का नरसिंहपुर में सिद्धी विनायक परिसर, श्री वर्धमान बिल्डर्स एण्ड डेव्हलपर्स का करेली में संस्कार सिटी, श्री समर्थ सांई कॉलोनाईजर्स का नरसिंहपुर में वर्धमान नगर, श्री वीर कॉलोनाईजर्स का करेली में वर्धमान सिटी करेली, श्री सांईनाथ कॉलोनाईजर्स का गोटेगांव में वर्धमान सिटी गोटेगांव, श्री वर्धमान कॉलोनाईजर्स का नरसिंहपुर में महावीर नगर डेडवारा नरसिंहपुर, श्री महावीर कॉलोनाईजर्स का नरसिंहपुर में वर्धमान सिटी फेस- 1 एण्ड 2 नरसिंहपुर, पराग नेमा का नरसिंहपुर में वर्धमान सिटी फेज- 3 नरसिंहपुर और शुभालय प्रापर्टीज का रामेश्वरम् नगर का प्रोजेक्ट शामिल हैं।
इसी तरह रेरा एक्ट के अंतर्गत पंजीयन के बाद जिन 15 प्रोजेक्ट में अनुमोदन की प्रक्रिया जारी है, उनमें अमित विश्नोई का गाडरवारा में लक्ष्मी टाउनशिप, संजय सिंह चौहान का गाडरवारा में प्रशांति निलियम, अमित बिल्डर्स का श्री गणेश नगर रेसीडेंसियल, निर्मल वासवानी का नरसिहपुर में नंदन ग्रीन सिटी नरसिंहपुर, सिद्धार्थ डेव्हलपर्स का नरसिंहपुर में सिद्धार्थ नगर, मां राजेश्वरी डेव्हलपर्स एण्ड बिल्डर्स का नरसिंहपुर में मालपानी नगर, सुरेश कुमार आसवानी का नरसिंहपुर में शिवधाम कॉलोनी विलेज सूरजगांव, शुभम कॉलोनाईजर्स का करेली में शुभनगर करेली, बालाजी लेण्ड डेव्हलपर्स का नरसिंहपुर में जानकी नगर, बालाजी लेण्ड डेव्हलपर्स सांईखेड़ा का गाडरवारा में जानकी विहार सांईखेड़ा, बालाजी प्रापर्टीज गाडरवारा का गाडरवारा में अशोक विहार- 3 एक्सटेंशन, बालाजी बिल्डर्स का करेली में नर्मदा नगर एक्सटेंशन, नर्मदा डेव्हलपर्स का करेली में लक्ष्मीपुरम, नीलकमल जैन का नरसिंहपुर में विमल कुंज कॉलोनी और महाकाल प्रमोटर एण्ड डेव्हलपर का गोटेगांव में गोदावरी नगर का प्रोजेक्ट शामिल हैं।
यदि जिले में प्रचलित कोई आवासीय कॉलोनी प्रोजेक्ट, जिसमें अभी विकास कार्य पूरे नहीं हुये हों, आमजन की जानकारी में आयें, जो नरसिंहपुर जिले की उक्त सूची में शामिल नहीं हों, तब ऐसे प्रोजेक्ट्स/ कॉलोनी की जानकारी रेरा, प्राधिकरण को भोपाल स्थित पते पर रेरा भवन, बोर्ड ऑफिस कैम्पस, मेन रोड नम्बर- एक, भोपाल 462011 तथा ई- मेल secretaryrera@mp.gov.in पर प्रेषित किये जाने का अनुरोध किया गया है।
रेरा एक्ट के लागू होने के बाद किसी भी आवासीय कॉलोनी एवं प्रोजेक्ट की तब तक मार्केटिंग और बुकिंग नहीं की जा सकती, जब तक कि उसका रेरा में पंजीयन नहीं हो जावे। रेरा एक्ट के अंतर्गत आवंटियों के साथ जो भी अनुबंध ठेकेदार, बिल्डर्स, प्रमोटर्स करेंगे, उसका पालन उन्हें करना होगा। साथ ही अपने निर्माण कार्य की 5 वर्ष की गारंटी भी लेना होगी। उन्हें समय पर आवंटितों को डिलीवरी देनी होगी। विज्ञापन और ब्राोशर में जो- जो दावे किये जायेंगे, उनकी पूर्ति बिल्डर्स को करनी होगी। प्रावधान का पालन नहीं करने पर आवंटी उनसे ब्याज सहित भुगतान तथा मुआवजा प्राप्त कर सकेंगे।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश रेरा एक्ट के क्रियान्वयन में देश में अग्रणी रहा है, जहां भू- सम्पदा विनियामक प्राधिकरण (रियल स्टेट रेगूलेटरी अथॉरिटी- रेरा) मध्यप्रदेश का गठन, रेरा के नियमों का प्रकाशन तथा रेरा का बेव आधारित ऑनलाइन सिस्टम सबसे पहले लागू किया गया है। प्राधिकरण में विभिन्न जिलों से बिल्डर्स संप्रवर्तक के विरूद्ध प्राप्त शिकायतों की त्वरित सुनवाई की जाकर उनका निराकरण किया जाता है। कोई भी आवंटी घर बैठे रेरा प्राधिकरण की बेवसाइटwww.rera.mp.gov.in पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। प्लाट या मकान खरीदने वालों से अपेक्षा की गई है कि वे बिल्डर का रेरा नम्बर जरूर देखें। बगैर रेरा नम्बर वाले प्रोजेक्ट/ कॉलोनी अवैध होने से, उनमें आवंटी/ ग्राहक के अधिकार सुरक्षित नहीं है। रेरा प्राधिकरण मध्यप्रदेश के चेयरमैन अंटोनी डिसा और उनके सहयोगी श्री नायक व श्री कपाले द्वारा प्रतिदिन भोपाल में सुनवाई की जाती है। साथ ही प्रति सप्ताह ग्वालियर, जबलपुर, इंदौर में सर्किट कैम्प का आयोजन भी किया जा रहा है, ताकि पक्षकारों को आसानी से न्याय मिल सके।

बरमान -: शुभम साहू की रिपोर्ट।

Vikram
हां हम बहते हैं धारा के विपरित,लड़ते हैं भ्रष्टाचार की लहरों से। हम उठाते हैं आवाज आपके आस पास हो रहे अन्याय के खिलाफ। WhatsApp no - +919977769843 Any suggestions or comments.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *